इंदौर से 9वीं बार लगातार उम्मीदवार होंगी ‘ताई’? अभी तय नहीं

इंदौर

untitled-3-1बीजेपी का मजबूत गढ़ कही जाने वाली मध्यप्रदेश की इंदौर सीट से लोकसभा अध्यक्ष सुमित्रा महाजन की उम्मीदवारी को लेकर अनिश्चितता का दौर कायम है। ताई के नाम से मशहूर 75 वर्षीय बीजेपी नेता पिछले 30 वर्ष से इंदौर से लगातार आठ बार जीत का रेकॉर्ड बना चुकी हैं। वह इस सीट पर 19 मई को होने वाले लोकसभा चुनावों में चुनावी टिकट की शीर्ष दावेदार हैं।

हालांकि बीजेपी द्वारा इस सीट से अपने उम्मीदवार की अब तक घोषणा नहीं की गई है, लिहाजा राजनीतिक गलियारों में अटकलें तेज हो गई हैं कि क्या लालकृष्ण आडवाणी (91) और मुरलीमनोहर जोशी (85) जैसे वरिष्ठ नेताओं की तरह महाजन को भी चुनावी समर से विश्राम दिया जाएगा। इन अटकलों से बेपरवाह महाजन पिछले दो दिन से शहर के विभिन्न वॉर्डों में पहुंचकर बीजेपी कार्यकर्ताओं की बैठकें ले रही हैं। साथ ही अपनी उम्मीदवारी को लेकर वह मीडिया के सवालों पर कुछ भी कहने से बच रही हैं।

सुमित्रा महाजन के स्थानीय समर्थकों का कहना है कि इंदौर सीट से उनकी दावेदारी को फिलहाल खत्म नहीं माना जाना चाहिए। उनके एक करीबी समर्थक ने शुक्रवार को कहा, ‘इंदौर सीट से बीजेपी उम्मीदवार की घोषणा को चुनावी रणनीति के तहत रोका गया है। हमें भरोसा है कि इस सीट का उम्मीदवार तय करते वक्त पार्टी ताई (महाजन) की राय को पूरी तवज्जो देगी।’

महाजन के अलावा इनके नामों की भी चर्चा
महाजन के अलावा, इंदौर से बीजेपी के चुनावी टिकट के दावेदारों में शहर की महापौर और पार्टी की स्थानीय विधायक मालिनी लक्ष्मणसिंह गौड़ के अलावा पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय, बीजेपी विधायक उषा ठाकुर, पूर्व विधायक भंवरसिंह शेखावत और इंदौर विकास प्राधिकरण के पूर्व चेयरमैन शंकर लालवानी के नाम भी चर्चा में हैं।

इंदौर से मोदी के नाम की भी उड़ी थी अफवाह
सोशल मीडिया पर मंगलवार को खबरें सामने आई थीं कि महाजन की मौजूदगी में बीजेपी की स्थानीय कोर कमिटी की बैठक में इंदौर लोकसभा क्षेत्र से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की उम्मीदवारी के प्रस्ताव पर भी चर्चा की गई। बहरहाल, बीजेपी ने इस बात को फौरन सिरे से खारिज कर दिया जबकि महाजन ने सोशल मीडिया के उक्त समाचारों को मजाक करार दिया था।

Check Also

बीजेपी को मानाने, शिवसेना नेता ने RSS प्रमुख को लिखा खत

मुंबई: महाराष्ट्र में भारतीय जनता पार्टी (BJP) और शिवसेना के बीच सत्ता के 50-50 बंटवारे को …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Enable Google Transliteration.(To type in English, press Ctrl+g)