सुमित्रा महाजन ने चुनाव लड़ने से किया इंकार

उनके नाम की चर्चा भले ही पूरे इंदौर मे हो रही थी मगर पार्टी के अंदर उनके नाम को लेकर लगातार संशय की स्थिति चल रही थी
प्रतीकात्मक तस्वीर

इंदौर. लोकसभा सीट इंदौर को लेकर भाजपा अभी अपना प्रत्याशी सुनिश्चित नही कर पा रही है, कुछ समय से निवर्तमान लोकसभा स्पीकर सुमित्रा महाजन का नाम लोकसभा चुनाव के लिये लगातार चर्चा मे था, मगर सुमित्रा महाजन द्वारा एक पत्र जारी कर चुनाव न लड़ने से इंकार कर दिया है। उनके नाम की चर्चा भले ही पूरे इंदौर मे हो रही थी मगर पार्टी के अंदर उनके नाम को लेकर लगातार संशय की स्थिति चल रही थी । उन्ही सब संशय को दूर करने के लिये सुमित्रा महा​जन द्वारा यह पत्र लिखा गया है।

सुमित्रा महाजन ने पत्र लिखकर अपनी पार्टी से कहा है इंदौर लोकसभा सीट को लेकर नाम के चयन मे संशय क्यो है ? भाजपा ने आज तक इंदौर में अपना उम्मीदवार घोषित नहीं किया है, यह अनिर्णय की स्थिति क्यों? संभव है कि पार्टी को निर्णय लेने में कुछ संकोच हो रहा है। हालांकि, मैंने पार्टी के वरिष्ठों से इस संदर्भ में बहुत पहले ही चर्चा की थी और निर्णय उन पर छोड़ दिया था। लगता है उनके मन में अब भी कुछ असमंजस है। इसलिए मैं घोषणा करती हूं कि मुझे अब लोकसभा का चुनाव नहीं लड़ना है.

 

इंदौर के लोगों ने मुझे प्रेम दिया। भारतीय जनता पार्टी एवं सभी कार्यकर्ताओं ने जिस लगन से सहयोग दिया और जिन जिन लोगों ने मुझे आज तक सहयोग किया, उन सभी की मैं हृदय से आभारी हूं। अपेक्षा करती हूं कि पार्टी जल्द ही अपना निर्म करे ताकि आने वाले दिनों में सभी को काम करने में सुविधा होगी और असमंजस की स्थिति समाप्त होगी।

कही ये भाजपा से नाराजगी तो नही

कहने के लिये तो यह साधारण सा पत्र है मगर राजनीतिज्ञों की माने तो महाजन ने यह पत्र लिखकर भाजपा के एक खेमे मे हडकंप मचा दिया है, कही न कही इससे सुमित्रा महाजन की नाराजगी के तौर पर देखा जाना चाहियें क्यो कि पत्र मे चुनाव के लिये इंकार करने के साथ—साथ सुमित्रा महाजन द्वारा पार्टी से कई सवाल भी किये गये है जो कि भाजपा से उनकी नाराजगी को दिखाते है।

उमा-सुषमा ने भी चुनाव लड़ने से इनकार किया

इससे पहले केंद्रीय मंत्री उमा भारती और विदेश मंत्री सुषमा स्वराज भी चुनाव लड़ने से इनकार कर दिया है। उमा भारती के ऐलान के बाद पार्टी ने उन्हें राष्ट्रीय उपाध्यक्ष बनाया है। वहीं, सुषमा ने स्वास्थ्य का हवाला देकर चुनाव न लड़ने का फैसला किया है।

Check Also

सलाखो मे रहने के बाद भी बिहार की राजनीति मे चर्चा मे लालू

बिहार की सियासत के बेताब बादशाह कहे जाने वाले आरजेडी अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव सजायाफ्ता …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Enable Google Transliteration.(To type in English, press Ctrl+g)