कोरोना के पीएम मोदी ने उतरी अपनी टीम, मंत्रियों को सौंपी बड़ी जिम्मेदारी

नई दिल्ली । प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्ववाली सरकार ने वैश्विक महामारी कोरोना वायरस को हराने के लिए केंद्र में अपने मंत्रियों से कहा है कि वे अपने राज्यों की जिम्मेदारी संभालें और नेतृत्वकर्ता की भूमिका निभाएं। सूत्रों ने समाचार एजेंसी एएनआई को बताया कि प्रधानंमत्री कार्यालय (पीएमओ) से जारी एक पत्र सभी मंत्रियों को भेजा गया है, जिसमें उन्हें तेजी से फैल रही महामारी को रोकने के लिए सक्रिय और असरकारी किरदार निभाने को कहा गया है।

एक मंत्री ने कहा, “सांसदों से यह सुनिश्चित करने को कहा गया है कि गरीब और वंचित तबकों को खाना मिले और इसीलिए उनके इलाके के सार्वजनिक वितरण प्रणाली (पीडीएस) दुकानों पर राशन की कोई कमी ना हो, स्थानीय बाजार में रोजमर्रा की सभी जरूरी चीजें मौजूद हों और किसी भी सामान के लिए उचित मूल्य से ज्यादा ना लिया जाए।” इसके साथ ही मंत्रियों से यह भी कहा गया है कि वे लगातार स्थानीय प्रशासन के संपर्क में रहें और अपने संसदीय क्षेत्र में कोरोना वायरस के ताजा हालात से खुद को अपडेट रखें।

इन मंत्रियों को मिली है इन राज्यों की जिम्मेदारी
राजस्थान और पंजाब राज्यों की बात की जाए तो केंद्रीय मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत को जिम्मेदारी दी गई है. पूर्वोत्तर के राज्य असम का दायित्व जनरल (रि) वीके सिंह को मिला है. उत्तर प्रदेश का प्रभार राजनाथ सिंह, संजीव बाल्यान, महेंद्रनाथ पांडेय और कृष्णपाल गुर्जर को दिया गया है। बिहार की जिम्मेदारी रविशंकर प्रसाद और रामविलास पासवान को दी गई है. ओडिशा राज्य से जुड़ी जानकारी धर्मेंद्र प्रधान देंगे, छत्तीसगढ़ की अर्जुन मुंडा और झारखंड का कोरोनावायरस डेटा मुख्तार अब्बास नकवी जुटाएंगे. महाराष्ट्र का प्रभार राज्य से आने वाले नेता नितिन गडकरी और प्रकाश जावडे़कर को दिया गया है।

एक मंत्री ने बताया, ‘निर्वाचित जनप्रतिनिधियों से कहा गया है कि वे सुनिश्चित करें कि गरीबों और वंचितों को भोजन मिले, उनके इलाकों में सार्वजनिक वितरण व्यवस्था के तहत संचालित दुकानों में राशन खत्म न हो, स्थानीय बाजारों में जरूरी सामान उपलब्ध रहे और लोगों से उन वस्तुओं के लिए ज्यादा मूल्य न लिया जाए।’ एक सूत्र ने मंत्रियों को लिखे गए पत्र का विवरण देते हुए कहा, ‘स्थानीय जिलाधिकारी के साथ संपर्क में रहें, सुनिश्चित करें कि जो लोग भी विदेश से लौटे हैं वे क्वारंटाइन नियमों का पालन करें और उन लोगों के आंकड़ें रखें जो कोरोना वायरस से संक्रमित हैं या जिनकी इस बीमारी से मृत्यु हुई है।’ मंत्रियों से इस बीमारी के बारे में लोगों में जागरूकता फैलाने के लिए भी कहा गया है।

Check Also

सभी जिलों में सप्ताह में एक दिन हो सकता है पूर्ण लाकडाउन

मास्क लगाने एवं फिजिकल डिस्टेंसिंग का हो कड़ाई से पालन सीमावर्ती जिलों को करें एडवाइजरी …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Enable Google Transliteration.(To type in English, press Ctrl+g)